बरेली, दरगाह आला हज़रत के सज्जादानशीन मुफ्ती अहसन रज़ा क़ादरी (अहसन मियां) ने रंज ओ गम का इज़हार पेश करते हुए खिराज़ ए अक़ीदत पेश की 

बरेली, दरगाह आला हज़रत के सज्जादानशीन मुफ्ती अहसन रज़ा क़ादरी (अहसन मियां) ने रंज ओ गम का इज़हार पेश करते हुए खिराज़ ए अक़ीदत पेश की 

आपको यह जानकर बहुत दुख हुआ कि रूयते-ऐ-हिलाल कमेटी सरपरस्त शहर काजी बूंदी हजरत अल्लामा मौलाना निजामुद्दीन साहब अब हमारे बीच नहीं रहे कल रात तकरीबन 1:00 बजे उनको बड़ी ईदगाह में सुपुर्द ए खाक किया गया उनके सोयम की फातिहा नगीना मस्जिद महावीर कॉलोनी नैनवा रोड पर और ब्रह्मपुरी छोटी मस्जिद में शुक्रवार को रखी गई है आप लोगों को यह भी मालूम है कोरोना जैसी महामारी हमारे मुल्क में चल रही है इसको देखते हुए सरकार की गाइड लाइन के अनुसार कहीं भी भीड़ इकट्ठी नहीं कर सकते इसलिए आपसे हम जरूरी अपील करते हैं कि घर पर ही रहकर हजरत के लिए इस साले सवाब करें शहर काजी मौलाना निजामुद्दीन साहब के निधन पर बरेली शरीफ दरगाह आला हज़रत के सज्जादानशीन मुफ्ती अहसन रज़ा क़ादरी (अहसन मियां)ने रंज ओ गम का इज़हार पेश करते हुए खिराज़ ए अक़ीदत पेश की । और इसाले सवाब की ख़ुसूसी दुआ की । व नासिर कुरैशी मीडिया प्रभारी दरगाह आला हज़रत बरेली शरीफ । पूर्व मंत्री हरिमोहन शर्मा ने व शहर काजी चित्तौड़गढ़ गुलाम मुस्तफा चिश्ती ने शहर काजी कोटा अनवार अहमद ने, शहर क़ाज़ी कैथून अलाउद्दीन साहब ने शहर काजी लाडनूं ने शहर काजी नैनवा ने और राजस्थान के कहीं काजी साहीबान ने मौलाना निजामुद्दीन साहब को खिराजे अकीदत पेश की