अकेली नहीं रहेंगी बेटियां , समाज देगा साथ

जिला प्रशासन  भी करेगा मदद

अकेली नहीं रहेंगी बेटियां , समाज देगा साथ


कोटा।

एक महीने में ही अपने माता पिता को खो चुकी दोनों बेटियों  मीनाक्षी और तोषिका की मदद को  शुक्रवार को कायस्थ समाज और समाज कल्याण विभाग आगे आया। समाज ने बेटियों के रोजगार और विवाह में मदद का भरोसा दिलाया, वहीं समाज कल्याण विभाग ने सरकार की योजनाओं से मदद की दिलासा दे कर आंसू पौंछे।

नयापुरा में मुक्तिधाम रोड निवासी  मीनाक्षी और तोषिका  के पिता अजय सक्सेना की २७ अप्रेल को मत्यु हो गई थी। उनकी माता का निधन २७ मई को हो गया। दोनों बेटियां अकेली रह गई। इसका पता चलने के बाद अखिल भारतीय कायस्थ महा सभा राजस्थान के अध्यक्ष कुलदीप माथुर के साथ समाज के लोग इन बेटियों के घर पहुंचे। माथुर ने उन्हें कहा कि वे चिंता ना करें। समाज उनके  साथ है। उनके विवाह में समूचा कायस्थ समाज मदद करेगा। देश के दूसरे राज्यों से भी बेटियों की कुलक्षेम पूछने के लिए फोन आ रहे हैं। जिन लोगों ने भी उनके बारे में सुना है। सभी चिंतित हैं।  

उन्होंने कहा बारह दिन तक वे अपनी माता के क्रियाकर्म कर लें। उसके बाद समाजजन उनके रोजगार की व्यवस्था कर देंगे। मीनाक्षी ने कहा कि उनकी माता का उपचार निजी अस्पताल में चला था। वहां के बिल के करीब सवा लाख रुपए बकाया हैैं। माथुर ने कहा इस बारे में अस्पताल से आग्रह करेंगे कि वे बिल की राशि माफ करें, जिला कलक्टर से भी आग्रह किया जाएगा। साथ ही कोटा के अल्रय सभी समाज के लोगों से भी मदद के लिए आग्रह किया जाएगा। जिला प्रशासन की और से वहां गए समाज कल्याण विभाग के उप निदेशक ओम प्रकाश तोषनीवाल ने कहा कि सरकार की योजनाओं के तहत उनको लाभ दिलाया जाएगा। उन्होंने कहा विवाह के दौरान प्रत्येक बेटी को राशि देने , आगे की शिक्षा के लिए स्कालरशिप देने की योजनाएं है। इसके आवेदन वे ही भरवा देंगे।
 बाद में माथुर ने बताया कि समाज की ओर से इन बेटियों को परेशान नहीं होने दिया जाएगा। समाजजनों ने इन बेटियों को गोद लिया है। शहर के सभी लोग इसमें मदद करेंगे। 

प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप माथुर के साथ कोटा उत्तर पार्षद चेतना माथुर, प्रदेश उपाध्यक्ष नरेश भटनागर, प्रदेश संचिव नीरज कुलश्रेष्ठ, कोटा जिलाध्यक्ष नितिन भटनागर,संदीप माथुर,मयूर सक्सेना, मोहित सक्सेना, शुभम सक्सेना साथ थे।