जिसका किया कलेक्टर ने सम्मान, उसी ने डाला गरीबों के खाने पर डाका |

जालौर गरीबों को खाने पर डाका डालकर भ्रष्टाचार करने वाले एनजीओ पर बडा भंडाफोड़ हुआ है एनजीओ में कार्यरत कोषाध्यक्ष सचिव सहित लैबर व अन्य के नामों की फर्जी एंट्री दिखाकर लाखो रुपयों का गड़बड़झाला कर दिया । मामला जिला मुख्यालय इंदिरा रसोई को ग्रीन एंड क्लीन एवीज लेंड संस्था का है एनजीओ जिला मुख्यालय पर तीन जगह इंदिरा रसोई कैंटीन संचालित कर रही है इस संस्था को गणतंत्र दिवस पर तात्कालीन कलेक्टर सम्मानित भी कर चुके है वही स्टेट आईटी टीम द्वारा इंदिरा रसोई मे गरीबों के निवाले में भ्रष्टाचार का भंडाफोड़ कर 4.92 लाख रुपयों की वसुली सहित एनजीओ को ब्लेक लिस्टेड की कार्यवाही भी की जायेगी । पर बडा सवाल यही है कि इस संस्था को नगर परिषद जालोर द्वारा संचालित किया जाता है तो नगर परिषद अधिकारीयों ने कई बार इंदिरा रसोई का निरीक्षण भी किया होगा तो क्यो इस भ्रष्टाचार पर ध्यान नही गया या जानबुझकर ध्यान नही दिया अब देखना होगा कि ग्रीन एंड क्लीन एवीज लेंड से वसुली व ब्लैक लिस्टेड की कार्यवाही कब तक होती है