मानव कौल का खुलासा- गुलशन कुमार मर्डर केस में मुझे पुलिस उठा ले गई थी, शेफाली शाह ने साझा की अपनी कहानी

गुलशन कुमार मर्डर केस में मुझे पुलिस उठा ले गई थी

मानव कौल का खुलासा- गुलशन कुमार मर्डर केस में मुझे पुलिस उठा ले गई थी, शेफाली शाह ने साझा की अपनी कहानी
मानव कौल का खुलासा- गुलशन कुमार मर्डर केस में मुझे पुलिस उठा ले गई थी, शेफाली शाह ने साझा की अपनी कहानी

नेटफ्ल‍िक्‍स पर इस वीक ‘अजीब दास्तांस’ रिलीज हो गई है। इसमें कई कहानियां साथ चलती हैं। उनमें से एक में शेफाली शाह और मानव कौल भी हैं। वे एक ऐसे कपल के रोल में हैं, जिनकी औलाद साइन लैंग्‍वेज से ही संवाद कर पाती है। शेफाली और मानव ने खास बातचीत में अपनी जिंदगी की अजीब दास्‍तान साझा की हैं। पेश हैं बातचीत के अंश:-

Q. आपकी जिंदगी की अजीब दास्‍तान कौन सी रही हैं?

मानव कौल: मेरे जीवन में तो ऐसी ढेर सारी अजीब दास्तानें हैं। उनमें से एक बताऊंगा। उसके रीजन और डिटेल में नहीं जाऊंगा। बस मैं एक लाइन भर बताऊंगा। संघर्ष के दिनों में मैं पांच लोगों के साथ रहता था। एक रात पुलिस आई और हम पांचों को गुलशन कुमार मर्डर केस में उठाके ले गई। क्‍या हुआ था, आगे क्‍या हुआ, अब वह मैं नहीं बता सकता।
शेफाली शाह : मैं बड़ी आसानी से इमोशनल हो जाती हूं। हर्ट हो जाती हूं। मेरे इमोशंस का मिड वे नहीं होता। कई बार ऐसा हो जाता है कि समोसा खाकर, उठाकर खुशी से बल्लियों उछलने लगती हूं। यह सब अजीब दास्‍तान ही तो हैं। डेट्स और बाकी प्रोजेक्‍टों में बिजी रहने की वजह से मैंने ‘तलवार’ और ‘नेमसेक’ जैसी फिल्‍में छोड़ी थीं। काश कि मैं वे दोनों फिल्‍में कर पाती। लेकिन मैं बाकी दूसरे प्रोजेक्‍ट कर रही थी, तो मैं उन्‍हें मना नहीं कर सकती थी।

Q.अजीब दास्तांस में क्‍या दास्‍तानगोई है?

मानव कौल : इसमें बहुत सारी प्रेम कहानी हैं। उनमें से एक हमारी है। बिना शब्‍दों के हमारी वह कहानी जाहिर की गई है। साइन लैंग्‍वेज की कहानियां है।
शेफाली शाह: हमारे किरदारों की बड़ी अनूठी दास्‍तानगोई है।

Q. ओटीटी जगत कैसे एंटरटेनमेंट को रीडिफाइन कर रहा है?

मानव कौल : मेरे ख्याल से एंटरटेनमेंट जगत को यह एक्‍सपैंड कर रहा है। पहले तो एक खास किस्‍म की फिल्‍में ही इंडिया के फिल्‍म जगत को रिप्रेजेंट करती थीं। अब आप नेटफ्ल‍िक्‍स जैसे प्‍लेटफॉर्म पर आते हैं तो पूरी दुनिया तक पहुंच जाते हैं।
शेफाली शाह : एक्‍सपैनशन के अलावा यहां एक्‍सपेरिमेंट भी खूब हो रहे हैं। बॉक्‍स ऑफिस के मामले में हिट होना है तो आपके सामने बस तीन दिनों की डिपेंडेंसी रहती है। ओटीटी ने वह ब्रेक कर दिया है।